Type Here to Get Search Results !

लार्डस की बढ़त लीड्स में गंवाई, इंग्लैंड ने पारी से हराया, देखें पूरे मैच की डिटेल



लीड्स, 28 अगस्त । भारतीय टीम इंग्लैंड की शानदार गेंदबाजी के सामने शनिवार को यहां तीसरे टेस्ट के चौथे दिन लंच से पहले दूसरी पारी में 278 रन पर सिमट गयी जिससे उसे पारी और 76 रन से हार का सामना करना पड़ा। इस तरह इंग्लैंड ने पांच मैचों की श्रृंखला 1-1 से बराबर की। पिछले मैच में शानदार जीत दर्ज कर बढ़त हासिल करने वाली भारतीय टीम पहले ही दिन पहली पारी में महज 78 रन पर सिमट गयी थी जिसका असर उसके पूरे खेल पर दिखा। गेंदबाजों पर इतने कम स्कोर का दबाव साफ दिखा जिसका फायदा उठाते हुए इंग्लैंड ने पहली पारी में 432 रन बनाकर 354 रन की विशाल बढ़त हासिल की।


भारतीय टीम ने शुक्रवार को तीसरे दिन 80 ओवर में दो विकेट पर 215 रन बनाकर कुछ उम्मीद जगायी थी। चौथे दिन पिच सपाट थी जो बल्लेबाजी के लिये अनुकूल थी। बस भारतीय बल्लेबाजों को पहला घंटा टिककर खेलने की रणनीति अपनानी थी। पर ऐसा नहीं हो सका और टीम ने लंच से पहले 63 रन के अंदर लगातार आठ विकेट गंवा दिये और इस तरह पूरी टीम 99.3 ओवर में 278 रन पर सिमट गयी। अब चौथा टेस्ट दो से छह सितंबर तक द ओवल में होगा।


इंग्लैंड के गेंदबाजों में सबसे सफल ओली रॉबिन्सन रहे जिन्होंने दूसरी पारी में 65 रन देकर पांच विकेट और मैच में सात विकेट झटके। वह ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ भी रहे। रॉबिन्सन ने चौथे दिन चार भारतीय खिलाड़ियों को आउट किया जिसमें चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली के अहम विकेट शामिल थे जबकि क्रेग ओवरटन को दो ( 47 रन देकर तीन) तथा जेम्स एंडरसन और मोईन अली को एक एक विकेट मिला। भारत ने दो विकेट पर 215 रन  से खेलना शुरू किया और उसने एक भी रन जोड़े बिना पुजारा (91 रन, 15 चौके) का विकेट गंवा दिया।


कोहली (55 रन, आठ चौके) और पुजारा क्रीज पर उतरकर दूसरी नयी गेंद के सामने सहज होने की कोशिश कर रहे थे। तीन ओवर में एक भी रन नहीं बना। शतक से नौ रन से दूर पुजारा ने रॉबिन्सन की एक गेंद को छोड़ दिया लेकिन यह उनके पैड से लगकर गयी और इंग्लैंड के खिलाड़ी अपील करने लगे। अंपायर ने नॉट आउट दिया। पर इंग्लैंड ने रिव्यू लिया जिसके बाद उन्हें पगबाधा आउट दिया गया जो बहुत बड़ा विकेट था।


एंडरसन अपनी गेंदों से परेशान कर रहे थे और ऐसी ही एक गेंद पर ऐसा लगा कि उन्होंने फिर कोहली का विकेट झटक लिया है। बल्ला पैड से लगा था लेकिन अंपायर ने आवाज सुनकर आउट दे दिया। कोहली पवेलियन की ओर चल दिये थे लेकिन अचानक वापस आकर उन्होंने दूसरे छोर के बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे से सलाह लेकर रिव्यू लिया जिसमें बल्ले पर गेंद लगी ही नहीं थी। और वह फिर एंडरसन की गेंद पर आउट होने से बचे।


कोहली ने रॉबिन्सन पर चार रन लेकर अपना अर्धशतक पूरा किया। इसी ओवर में एक और चौका लगाया, पर अगली ही गेंद पर उनका शिकार बन गये। बाहर जाती गेंद उनके बल्ला चूमती हुई पहली स्लिप में खड़े इंग्लैंड के कप्तान जो रूट के हाथों में समां गयी जो जोश में मैदान पर भागने लगे। भारतीय बल्लेबाजों के लिये नयी गेंद के सामने शुरुआती घंटे में टिककर खेलना अहम था लेकिन इन दोनों के विकेट के बाद रहाणे (10 रन) भी अपना विकेट गंवा बैठे। एंडरसन की गेंद उनके बल्ले का किनारा छूकर विकेटकीपर जोस बटलर के हाथों में समां गयी। इस तरह टीम ने 11 ओवर में 24 रन के अंदर अपने तीन अहम विकेट गंवा दिये।


अगले ओवर में एक भी रन नहीं जुड़ा और ऋषभ पंत (01) रॉबिन्सन की गेंद पर तीसरी स्लिप में कैच देकर पवेलियन लौट गये। रॉबिन्सन का यह दिन का तीसरा विकेट था। रूट ने फिर ऑफ स्पिनर मोईन अली को गेंदबाजी पर लगाया और आते ही उन्होंने मोहम्मद शमी (06) को बोल्ड कर दिया। भारत ने आठवां विकेट इशांत शर्मा के रूप में खोया जो रॉबिन्सन का पांचवां विकेट था। इंग्लैंड के इस गेंदबाज ने श्रृंखला में दूसरी बार पांच विकेट झटके।


रविंद्र जडेजा (30 रन, 25 गेंद, पांच चौके, एक छक्का) ने मोईन अली की गेंद को ऊंचा उठा दिया और इस पर एक गगनचुंबी छक्का लगा। उन्होंने कुछ शानदार शॉट लगाकर रन बनाये, पर वह भी ज्यादा देर तक नहीं टिक सके और क्रेग ओवरटन की गेंद पर विकेटकीपर को कैच देकर आउट हुए।  इसकी एक गेंद बाद मोहम्मद सिराज के आउट होते ही भारत की दूसरी पारी समाप्त हो गयी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Below Post Ad