Type Here to Get Search Results !

केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय, भारत की आजादी के 75 साल के अवसर पर "अमृत महोत्सव" के तहत 28 अगस्त 2021 को नई दिल्ली में "मेरा वतन, मेरा चमन" मुशायरा आयोजित करेगा

नई दिल्ली l महान स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदानों को याद करते हुए प्रसिद्ध कवि "भारत की स्वतंत्रता के उत्सव" पर अपनी कविताएं और दोहे प्रस्तुत करेंगे: मुख्तार अब्बास नकवी.



केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री  मुख्तार अब्बास नकवी ने आज कहा कि भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने के अवसर पर 'अमृत महोत्सव' के तहत 28 अगस्त 2021 को नई दिल्ली में 'मेरा वतन, मेरा चमन' मुशायरा का आयोजन किया जाएगा।


 नकवी ने कहा कि महान स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदानों को याद करते हुए "भारत की स्वतंत्रता के उत्सव" पर प्रसिद्ध कवि अपनी कविताएँ और दोहे प्रस्तुत करेंगे। राजधानी के डॉ. अम्बेडकर इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित होने वाले "मेरा वतन, मेरा चमन" मुशायरे में कवि, अपनी कविता के माध्यम से "विभाजन की भयावहता और पीड़ा" से भी लोगों को अवगत कराएंगे। 


उन्होंने कहा कि "अमृत महोत्सव" के तहत केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय 2023 तक देश भर में "मेरा वतन, मेरा चमन" मुशायरों और कवि सम्मेलनों का आयोजन कर रहा है, जहां प्रसिद्ध व उभरते कवि भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष से जुड़ी यादों से भरे संदेश देंगे।


मंत्री ने कहा कि  वसीम बरेलवी, श्रीमती शबीना अदीब, श्री मंजर भोपाली, डॉ. वी.पी. सिंह, श्रीमती सबा बलरामपुरी, हसीब सोज, डॉ. एजाज पॉपुलर मेरठी, सरदार सुरेंद्र सिंह शजर,  सिकंदर हयात गड़बड़,  खुर्शीद हैदर,  अकील नोमानी, डॉ. अब्बास रजा नैयर जलालपुरी (निजामत) जैसे प्रसिद्ध कवि मुशायरे में दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर देंगे।


नकवी ने कहा कि "मुशायरा" और "कवि सम्मेलन" हमारे देश की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का हिस्सा हैं, जो "विविधता में एकता" के ताने-बाने को मजबूत करते हैं। "मुशायरा" जैसे कार्यक्रम शांति का संदेश फैलाते हैं और समाज में सामाजिक सद्भाव और भाईचारे को भी मजबूत करते हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह के कार्यक्रम युवा पीढ़ी को देश की कला और संस्कृति की समृद्ध विरासत से भी अवगत कराते हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Below Post Ad