Type Here to Get Search Results !

छत्तीसगढ़ में इंजीनियरिंग एवं मेडिकल में प्रवेश की तैयारी हेतु इस तारीख तक कर सकते हैं आवेदन




नारायणपुर, 28 अगस्त 2021। अनुसूचित जनजाति तथा अनुसूचित जाति विकास विभाग द्वारा राज्य के अनुसूचित जनजाति एवं अनुसूचित जाति वर्ग के पात्र विद्यार्थियों को इंजीनियरिंग एवं मेडिकल में प्रवेश परीक्षा की तैयारी करना चाहते है, ऐसे इच्छुक विद्यार्थियों से 17 सितंबर तक सहायक आयुक्त आदिवासी विभाग में आवेदन आमंत्रित किया गया है। परीक्षा में चयनित विद्यार्थियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। विस्तृत जानकारी के लिए विभाग की वेबसाइट डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यूडॉट्रायबलडॉटसीजीडॉअजीओव्हीडॉटइन का अवलोकन किया जा सकता है। प्री इंजीनियरिंग एवं प्री मेडिकल की प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी कराने हेतु नियम, शर्ताे में यह कोचिंग 01 वर्ष के लिए या प्रतियोगी परीक्षा के होने तक जो हो तक के लिए होगा। चयनित संस्था द्वारा कोचिंग का कार्य जिला बिलासपुर मुख्यालय में सम्पन्न कराया जायेगा।  योजनांतर्गत 100 सीट निर्धारित है जिसमें अनुसूचित जनजाति हेतु तथा अनुसूचित जाति हेतु 36 आरक्षित हैं। 


आवेदक को छत्तीसगढ़ का मूल निवासी होना अनिवार्य है। आवेदक अनुसूचित जनजाति एवं अनुसूचित जाति वर्ग से हो तथा स्थाई जाति प्रमाण पत्र धारक हो एवं आवेदक भारत सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ राज्य के लिए घोषित अनुसूचित जनजाति एवं अनुसूचित जाति वर्ग की सूची में सम्मिलित है अथवा नहीं, यह सिद्ध करने का दायित्व आवेदक का होगा। यदि इस संबंध में आवेदक द्वारा गलत विवरण प्रस्तुत किया जाता है तो उसे इस योजना के लाभ से सदैव वंचित कर दिया जाएगा। कक्षा 12वीं में कम से कम 70 प्रतिषत अंक या समतुल्य ग्रेड गणित एवं जीव विज्ञान विषय में प्राप्त किया हो आवेदन कर सकते है। अभ्यर्थी का चयन प्राक्चयन परीक्षा में प्राप्त अंक के मेरिट के आधार पर अंतिम चयन किया जायेगा। 


आवेदक के अभिभावक / पालक का समस्त स्त्रोतों से वार्षिक आय रूपये 2.50 लाख से अधिक नहीं होना चाहिए इस संबंध में लोक सेवा केन्द्र के माध्यम से सक्षम अधिकारी द्वारा जारी किया गया आय प्रमाण पत्र संलग्न करना अनिवार्य होगा, साथ ही स्वघोषणा प्रमाण पत्र 10 रु. के नान ज्युडिशियल स्टाम्प पेपर पर प्रस्तुत किया जाना होगा। विद्यार्थी को कोचिंग, आवास, भोजन, चिकित्सा, पुस्तक, प्रवेश शुल्क आदि निःशुल्क प्रदान किया जायेगा।। प्राप्त आवेदन के परीक्षण उपरांत पात्र अभ्यर्थियों से वस्तुनिष्ठ बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे। प्रश्न-पत्र अधिकतम 02 घंटे का होगा, जिसमें कुल 120 प्रश्न पूछे जा सकेंगे। अभ्यर्थी किसी भी जिले के सहायक आयुक्त, आदिवासी विकास के कार्यालय में आवेदन पत्र जमा कर सकते है।  प्री० मेडिकल एवं प्री० इंजीनियरिंग परीक्षा की तैयारी आफलाईन अथवा आनलाईन के माध्यम से चयनित संस्था द्वारा शासन के निर्देशानुसार ही किया जायेगा। आवेदन पत्र में चाही गई समस्त जानकारी सही-सही एवं स्वयं के द्वारा संबंधित अभिलेख सत्यापित कर आवेदन के साथ संलग्न कर प्रस्तुत करें आवेदन पत्र एवं अभिलेख अपूर्ण पाये जाने पर आवेदन निरस्त किया जायेगा।  

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Below Post Ad