Type Here to Get Search Results !

उत्तर प्रदेश चुनाव ने बढ़ाई केंद्र सरकार की चिंता, जातीय जनगणना की मांग

खबर आई है कि जातीय जनगणना की मांग को लेकर बिहार का प्रतिनिधिमंडल आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  से मुलाकात करेगा. आपको बता दें कि प्रतिनिधिमंडल में 10 दलों के नेताओं का नाम है, जिसका नेतृत्व खुद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेंगे. सीएम नीतीश ने बड़ा बयान आया है की अगर केंद्र पूरे देश में जातीय जनगणना नहीं कराने का फैसला लेती है तो फिर हम मिल बैठकर विचार करेंगे, आगे क्या करना है.

बिहार का प्रतिनिधिमंडल


आपको बता दें कि जातीय जनगणना की मांग को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में जेडीयू समेत 10 दलों के नेताओं का प्रतिनिधिमंडल पीएम नरेंद्र मोदी से मिलेगा. इस डेलिगेशन में बिहार बीजेपी के नेता भी शामिल हैं. नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव दिल्ली पहुंच चुके हैं. दिल्ली पहुंचने के बाद नीतीश ने कहा कि जातीय अधारित जनगणना उनकी मांग है और इसे लागू करना चाहिए.

आपको बता दें कि अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) की गणना के लिए जाति जनगणना की मांग किया जाने वाला है, बिहार के मुख्मयंत्री नीतीश कुमार की अगुवाई में 10 सदस्यीय सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल केंद्र के सामने अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) की गणना के लिए जाति जनगणना की मांग करेंगे. अब उत्तर प्रदेश चुनाव से 6 महीने पहले ही इस बात पर फैसले लेना मोदी सरकार के लिए थोड़ा मुश्किल साबित हो सकता है.

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी से बिहार के ये नेता मुलकत करेंगे


1) जेडीयू : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बिहार के संसदीय कार्य मंत्री विजय कुमार चौधरी
2) आरजेडी : नेता प्रतिपक्ष तेजश्वी यादव
3) कांग्रेस: विधायक अजित शर्मा
4) भाकपा माले: महबूब आलम
5) एआईएमआईएम: अख्तरुल इमाम
6) हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा: पूर्व सीएम जीतन राम मांझी
7).वीआईपी: मुकेश साहनी
8) सीपीआई: सूर्यकांत पासवान
9) सीपीएम: अजय कुमार
10) बीजेपी: जनक राम

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Below Post Ad