Type Here to Get Search Results !

Jammu and Kashmir update: जम्मू कश्मीर को टारगेट किलिंग के पीछे पाकिस्तान का हाथ है , आतंकी सगंठन में नए नाम सामने आये |

हिंदुत्व का जिक्र यूएलएफ जेके' के पत्र में हुआ है | मुस्लिमों के साथ हुई लिंचिंग की घटनाओं का हवाला दिया गया है।


विस्तार
कश्मीर 'पिस्टल किलिंग' की वारदात को लेकर पाकिस्तान की बड़ी साजिश का खुलासा हुआ है। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने अपनी सरकार की खाल बचाने के लिए कश्मीर में नए नामों वाले कई आतंकी संगठन खड़े कर दिए हैं। रविवार को बिहार के जिन दो श्रमिकों को मारा गया है, उसकी जिम्मेदारी यूनाइटेड लिब्रेशन फ्रंट-जम्मू एंड कश्मीर (यूएलएफ जेके) ने ली है। 

अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों से बचने के लिए पाक का नया गेम प्लान  
बता दें कि श्रीनगर में आतंकियों ने सात अक्तूबर को प्रिंसिपल सुपिंदर कौर और शिक्षक दीपक चांद की हत्या की थी। पहले इन शिक्षकों की हत्या की जिम्मेदारी नए आतंकी संगठन ‘गिलानी फोर्स’ ने ली थी। हालांकि उससे पहले आतंकी संगठन 'लश्कर-ए-तैयबा' की नई शाखा 'द रजिस्टेंस फ्रंट (टीआरएफ) ने इन हत्याओं की जिम्मेदारी ली थी। जम्मू कश्मीर पुलिस की इंटेल शाखा से जुड़े एक विश्वस्त सूत्र का कहना है कि पाकिस्तान ने अब अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों से बचने के लिए नया गेम प्लान तैयार किया है। पाकिस्तान के आतंकी संगठन 'लश्कर-ए-तैयबा' और 'जैश-ए-मुहम्मद', जिनकी डोर पाकिस्तानी आईएसआई अपने हाथ में रखती है, अब इन्हीं के बीच से नए सदस्यों को मिलाकर कश्मीर में छोटे-छोटे समूह खड़े किए गए हैं।इन्हीं समूह के आतंकियों को 'पिस्टल किलिंग' का टारगेट दिया गया है | 


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Below Post Ad