Type Here to Get Search Results !

सोनिया गांधी से मिलने पहुंचे भूपेश बघेल और सचिन पायलट, राजस्थान-यूपी पर कांग्रेस का समर्थन क्या होने वाले हैं बड़े एलान

राजस्थान में बड़ा मामला सामने आ रहा है फेरबदल की पिछले कई दिनों से चर्चा है। एक दिन पहले ही राजस्थान सीएम अशोक गहलोत ने सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। कांग्रेस अध्यक्ष ने राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट को मिलने के लिए बुलाया गया है। 

देश में आने वाला साल की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव और राजस्थान में जारी सियासी सरगर्मियों के बीच कांग्रेस कुछ बड़े बदलावों पर विचार कर रही है। इसे लेकर जल्द ही पार्टी आलाकमान की ओर से एलान होने की संभावना है। बताया गया है कि इस सिलसिले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और सचिन पायलट को दिल्ली बुलाया गया है। 

उत्तर प्रदेश कांग्रेस समिति (यूपीसीसी) के वरिष्ठ प्रेक्षक भूपेश बघेल अगले साल होने वाले यूपी चुनाव के लिए सोनिया गांधी से बात करेंगे। उन्होंने शुक्रवार सुबह ही 10 जनपथ पहुंचकर सबसे पहले कांग्रेस महासचिव और यूपी में पार्टी का चेहरा बनकर उभरीं प्रियंका गांधी वाड्रा से मुलाकात की। इसके बाद वे सोनिया गांधी से भी मिलेंगे। 

दूसरी ओर राजस्थान में बड़े फेरबदल की पिछले कई दिनों से चर्चा है। एक दिन पहले ही राजस्थान सीएम अशोक गहलोत ने सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। अब कांग्रेस अध्यक्ष ने राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट को मिलने के लिए बुलाया गया है। इस बैठक में राजस्थान के राजनीतिक घटनाक्रम पर चर्चा के साथ कैबिनेट में बदलावों को लेकर चर्चा हो सकती है। 

तीन साल से अभी तक नहीं हुआ गहलोत मंत्रिमंडल में बदलाव | 

जल्द ही राजस्थान में मंत्रिमंडल विस्तार और फेरबदल पर भी निर्णय लिया जाएगा। इसी साल 17 दिसंबर को गहलोत सरकार के तीन साल पूरे हो रहे हैं। इन तीन वर्षों में पार्टी की खींचतान के कारण कोई फेरबदल नहीं हुआ है। इससे विधायकों का एक ग्रुप नाराज भी रहा है। ऐसे में कांग्रेस इस अंदरूनी कलह को खत्म करने के लिए पायलट समर्थित विधायकों को कैबिनेट में जगह देना चाहेगी।



 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Below Post Ad