Type Here to Get Search Results !

Health: Heart Attack के जोखिम को बढ़ा देती हैं ऐसी गलतियाँ, हो जाइए सचेत वरना बढ़ सकती हैं दिक्कतें...

Health Expert बताते हैं, दैनिक जीवन की कई आदतें और शरीर की कई स्थितियां Heart Attack के खतरे को बढ़ा सकती हैं। कोरोना के आने के बाद से लोगों में हृदय रोग को लेकर कुछ जागरूकता जरूर आई है लेकिन अब भी बहुत लोग इस बात से अनजान हैं। 


High BP, low BP और कोलेस्ट्रॉल के बढ़ते स्तर के अलावा डायबिटीज और इंफेक्शन के साथ ही दांतों की समस्या, स्ट्रेस, फेफड़ों और लिवर से जुड़ी समस्याएं भी दिल को नुकसान पहुंचाने का कारण बन सकती हैं। इसलिए आपको सम्पूर्ण मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य की ओर ध्यान देना चाहिए। आइये इसके बै में विस्तार से जानते हैं...


नमक और चीनी का अधिक सेवन...
नमक और चीनी दोनों का सेवन आपके दिल की सेहत से जुड़ा हैं। नमक बीपी से जुड़ा है तो चीनी या मीठा डायबिटीज से। बीपी में असंतुलन तो दिल के लिए खतरा हो ही सकता है, साथ ही ब्लड शुगर लेवल का गड़बड़ाना भी दिल के लिए मुश्किलें पैदा कर सकता है। यह एक दिन में नहीं होता, धीरे-धीरे होता है। इसलिए चाहे आप प्री-डायबिटीक की सूची में क्यों न आते हों, मीठे का सेवन कम से कम कर दें।


डायबिटीज का संबंध केवल मीठे से ही नहीं है। बहुत अधिक तेल-मसाले में बना भोजन, मैदा और चीज़ आदि से बने जंक फूड या पैकेज्ड फ़ूड, कोल्डड्रिंक्स आदि भी डायबिटीज की स्थिति को और बिगाड़ सकते हैं। शुगर का बढ़ना खून ले जाने वाली धमनियों और नाड़ियों को नुकसान पहुंचा सकता है जो दिल की बीमारियों या Heart Attack तक की वजह बन सकता है।

सभी तरह के संक्रमण हैं खतरनाक...
कोरोना महामारी को लेकर विशेषज्ञों और शोधकर्ताओं ने कई प्रमाण दिए हैं कि, इस संक्रमण ने दिल सहित शरीर के अन्य अंगों पर कितना बुरा असर डाला है। चाहे वायरल इंफेक्शन हो या बैक्टीरियल, हम पूरे जीवन में कई तरह के संक्रमणों से गुजरते हैं। इनमें से कुछ माइल्ड होते हैं तो कुछ का असर बहुत समय तक शरीर पर बना रह सकता है।


ध्यान न देने पर बैक्टीरिया, वायरस, परजीवियों या रसायन के रूप में ऐसे संक्रमण दिल तक पहुंच सकते हैं जिससे दिल की मांसपेशियों को नुकसान हो सकता है। इसलिए कोई भी इंफेक्शन होते ही तुरन्त उसका इलाज कराएं और इसके साइड इफेक्ट्स को लेकर डॉक्टर से सलाह भी लें। 

मानसिक स्वास्थ्य और दिल का कनेक्शन...
मौजूदा समय में मानसिक तौर पर तंदरुस्त रहना एक बहुत महत्वपूर्ण उपलब्धि है। तनाव और मानसिक अशांति वाले माहौल में अपने दिमाग को स्वस्थ रखना एक बड़ी चुनौती होती है। तनाव या स्ट्रेस को दिमाग पर हावी न होने दें। खुश रहने के लिए छोटी छोटी वजहें तलाशें। 


रिसर्च के अनुसार...
रिसर्च यह साबित कर चुकी है अगर तनाव, स्ट्रेस और नेगेटिव विचारों पर समय रहते काबू न किया जाए तो हार्ट की रिदम बिगड़ने, ब्लड प्रेशर के बढ़ने जैसी स्थितियां बन सकती हैं, जो जानलेवा हो सकती हैं। इन सबके अलावा जन्मगत ह्रदय विकार, अनुवांशिक हृदय रोग, मोटापा, फेफड़ों, पेट, दांत, लिवर आदि से जुड़ी समस्याएं भी दिल के रोगों या हार्ट अटैक तक का कारण बन सकती हैं।


उपरोक्त लेख में उल्लेखित संबंधित बीमारी के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लें।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Below Post Ad