Type Here to Get Search Results !

Twitter of PM Modi: पीएम ट्विटर अकाउंट @narendramodi हैक, पीएमओ ने कहा- अकाउंट से थोड़ी देर के लिए ही हुई छेड़छाड़

कुछ दिनों पहले PM Modi ने बिटक्वाइन को युवा पीढ़ी के लिए एक खतरा बताते हुए कहा था कि, क्रिप्टोकरेंसी का गलत इस्तेमाल न हो यह सुनिश्चित करने के लिए वैश्विक भागीदारी की आवश्यकता है।


बीते शनिवार देर रात हैकर्स ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्विटर अकाउंट @narendramodi को हैक कर लिया। हैकर्स ने अकाउंट में तीन मिनट के अंदर दो ट्वीट किये। इससे हड़कंप मच गया। यह ट्वीट देर रात करीब 2.11 बजे से 2.15 के बीच किए गए। हालांकि इन ट्वीट को कुछ ही देर में डिलीट कर दिया गया।

सोशल मीडिया यूजर्स ने इसे सुरक्षा का गंभीर खतरा और 'बिटक्वाइन माफिया' का काम बताया। जानकारी के अनुसार पहला ट्वीट 2.11 बजे किया गया, जिसे दो मिनट के अंदर डिलीट कर दिया गया। लेकिन इसके डिलीट होते ही एक दूसरा ट्वीट 2.14 बजे किया गया। दोनों में एक समान ही बात लिखी हुई थी। फिर इस ट्वीट को भी डिलीट कर दिया गया। 


हैकर ने ट्वीट में लिखा...
हैकर ने PM Modi के अकाउंट से ट्वीट में लिखा कि भारत ने बिटक्वाइन को आधिकारिक रूप से मंजूरी दे दी है। सरकार ने आधिकारिक रूप से 500 बीटीसी खरीदे हैं और सभी नागरिकों को बांट रही है। जल्दी करें भारत, भविष्य यहां है।

सोशल मीडिया यूजर्स अकाउंट पर इस तरह की पोस्ट देखने के बाद समझ गए कि अकाउंट हैक हुआ है। एक ने लिखा कि अब भारत में क्रिप्टोकरेंसी की कोई जगह नहीं है। एक यूजर ने लिखा कि, ये बिटक्वाइन माफिया का काम है। कई लोगों ने यहां तक आशंका जताई कि इस घटना के बाद क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है। 

यह अकाउंट narendramodi.in से लिंक था। कहा जा रहा है कि ट्विटर अकाउंट को हैक करने के बाद हैकर्स बिटक्वाइन की मांग कर रहे थे। इस अकाउंट पर प्रधानमंत्री को 25 लाख से ज्यादा लोग फॉलो करते हैं।


PM ने क्रिप्टोकरेंसी को युवा पीढ़ी के लिए खतरा बताया...
अनुमानित तौर पे भारत में क्रिप्टोकरेंसी के लगभग डेढ़ करोड़ उपभोक्ता हैं और इनकी कुल कीमत 6 अरब डॉलर से ज्यादा है। कुछ दिनों पहले PM Modi ने बिटक्वाइन को युवा पीढ़ी के लिए एक खतरा बताया था और कहा था कि क्रिप्टोकरेंसी का गलत इस्तेमाल न हो यह सुनिश्चित करने के लिए वैश्विक भागीदारी की आवश्यकता है।

क्रिप्टोकरेंसी को भारत में अभी नहीं मिली है मान्यता...
भारत में अभी तक बिटक्वाइन को या अन्य किसी क्रिप्टोकरेंसी को मान्यता नहीं दी गई है। क्रिप्टोकरेंसी को मान्यता देने न देने के विषय में आखिरी फैसला PM Modi का ही होगा। क्रिप्टोकरेंसी एंड रेगुलेशन ऑफ ऑफिशियल डिजिटल करेंसी बिल 2021 संसद के शीतकालीन सत्र में पेश होना है। क्रिप्टोकरेंसी को लेकर भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने गंभीर चिंताएं व्यक्त हैं।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Below Post Ad