Type Here to Get Search Results !

सोने से भी महंगी है ये मछली

 सोने से भी महंगी है ये मछली


भारत विविधताओं का देश है इसलिए यहां हर राज्य में अपना एक अलग खानपान है। खानपान की संस्कृति हर देश में अलग-अलग होती है।  ऐसे ही एक फूड्स के बारे में आपको जानकार हैरानी होगी कि जापान की एक बेहद खास मछली, जिसकी कीमत को जानकर व्यक्ति खरीदने से पहले सौ बार सोचे, लेकिन न खाए तो पछताए।


जापानी लोगों को सी-फूड  बहुत पसंद है, इसे बड़े चाव से खाते हैं। जापान के सी फूड मार्केट में आपको वैसे तो अलग-अलग तरह की मछलियां के साथ उनके हाई फ़ाई दाम भी देखने को मिलेंगे। लेकिन इन्हीं में शामिल है जापान की मशहूर उनागी मछली। जापान में ताजे पानी में पाई जाने वाली उनागी प्रजाति की ईल मछली सोने के जितनी महंगी है। आपको बता दें कि बिजनेस इन्साइडर के मुताबिक साल 2018 में इस मछली की कीमत 35 हजार डॉलर प्रति किलो का भाव रहा है। वहीं गत वर्ष सोने की कीमत भी इतनी ही थी।


जापानी लोगों को यह मछली बेहद प्रिय है, सालों से ये लोगों का पसंदीदा खाना है। जानकार ताज्जुब होगा कि सिर्फ जापान के होटल और रेस्तरां में करीब-करीब 50 टन ईल मछली हर साल बेची जाती है। इस मछली के बच्चों को पकड़कर ताजे पानी में बड़े होने तक पाला जाता है। एक साल के बाद ये बेचने लायक हो जाती हैं। यह मछलियां ज्यादातर पूर्व एशिया में पाई जाती हैं। इस मछली को पकड़ने के बाद एक प्रोसेस से गुजरना पड़ता है। 


दरअसल उनागी मछली जापान की बेहद प्रसिद्ध मछली है लेकिन धीरे धीरे इसकी संख्या में भारी कमी होने लगी है।जापान में पाई जाने वाली ये मछलियां इतनी महंगी इसलिए हैं क्योंकि 1980 के बाद इनकी आबादी में 75 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई।  इसके पीछे की जो वजह सामने आई यही वह है ईल मछलियों का अत्यधिक शिकार। ईल और दूसरी मछलियों में इतना अंतर है कि दूसरी मछलियों को तब पकड़ा जाता है जब वो बड़ी हो चुकी होती हैं लेकिन उनागी मछली जब काफी छोटी होती हैं, तभी उन्हें पकड़ लिया जाता है। बाजार में आमतौर पर बिकने वाली मछलियां सीधे पकड़कर बाजार में बेच दी जाती है। जबकि ईल मछली के बच्चों को पकड़कर उन्हें पालना पड़ता है। इन्हें चारा, गेहूं, सोयाबीन, मछलियों का तेल जैसा खाना खिलाया जाता है और इसमें अच्छा खासा खर्च हो जाता है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Below Post Ad