Type Here to Get Search Results !

Today's Health Tips: रनिंग करने की आदत आपके शारीरिक-मानसिक स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद

Today's Health Tips: रनिंग करने की आदत आपके शारीरिक-मानसिक स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद

बेहतर फिटनेस के लिए शारीरिक सक्रियता बहुत आवश्यक मानी जाती है। शोध बताते हैं कि अगर आप नियमित रूप से शारीरिक गतिविधियां करते रहते हैं तो आपमें मोटापा, डायबिटीज, हृदय रोग सहित कई तरह की अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का जोखिम कम होता है। 




सेडेंटरी लाइफस्टाइल यानी लगातार बैठे रहने या आराम तलबी जीवन व्यतीत करने की आदत ने लोगों को समय के साथ बीमार कर दिया है। स्वास्थ्य विशेषज्ञ कहते हैं, सभी लोगों को अपने स्तर पर शारीरिक सक्रियता का विशेष ध्यान देते रहना चाहिए। यदि आप गठिया, कमजोरी अधिक मेहनत करने की स्थिति में नहीं हैं तो रोजाना वॉक और यदि आप स्वस्थ हैं तो रनिंग को अपनी जीवनशैली का हिस्सा जरूर बनाएं।

रनिंग यानी कि दौड़ने की आदत आपके फिटनेस के लिए बहुत लाभप्रद मानी जाती है। कई अध्ययनों में यहां तक कहा गया है कि दौड़ने की आदत, उम्र बढ़ती है। साल 2018 के एक शोध में विशेषज्ञों ने पाया कि सेडेंटरी लाइफस्टाइल वालों की तुलना में रोजाना रनिंग करने वाले लोगों में तमाम स्वास्थ्य कारणों से मृत्युदर लगभग 25 से 30 प्रतिशत तक कम होता है। आइए जानते हैं कि दिनचर्या में रनिंग की आदत को शामिल करने से आपको किस-किस प्रकार के स्वास्थ्य लाभ हो सकते हैं?

रोजाना रनिंग की बनाएं आदत

शोध से पता चलता है कि रोजाना रनिंग की आदत मृत्यु के प्रमुख कारण माने जाने वाले हृदय रोगों के जोखिम को कई गुना तक कम कर सकती है। कुछ अध्ययन यह भी कहते हैं कि सप्ताह भर में अगर आप 4.5 घंटे तक की भी रनिंग कर लेते हैं तो इसके सेहत पर कई तरह के सकारात्मक लाभ देखे जो सकते हैं। रनिंग करना, हाई इंपैक्ट वाला एक्सरसाइज है, धीरे-धीरे इसकी आदत बनाएं और समय के साथ गति और अवधि दोनों को बढ़ा सकते हैं। 

कई स्वास्थ्य जोखिमों को कर देता है कम

हर दिन दौड़ने से आपके स्वास्थ्य को कई प्रकार के लाभ हो सकते हैं। अध्ययनों से पता चलता है कि रोजाना मध्यम गति से केवल 5 से 10 मिनट रनिंग करने की आदत आपको कई प्रकार के जानलेवा स्वास्थ्य समस्याओं से बचा सकती है। 
  • दिल का दौरा या स्ट्रोक से मृत्यु का कम जोखिम
  • हृदय रोग का खतरा कम होता है।
  • कैंसर के विकास का कम जोखिम होता है।
  • अल्जाइमर और पार्किंसंस जैसे न्यूरोलॉजिकल रोगों से बचाव में सहायक।

नींद और मूड विकारों में लाभदायक

शोध बताते हैं कि रोजाना रनिंग करने की आदत आपके शारीरिक और मानसिक, दोनों तरह की सेहत को बेहतर बनाने में सहायक है। विशेषज्ञों ने पाया कि रोजाना रनिंग करने वाले लोगों में नींद और मूड संबंधी विकारों को जोखिम काफी कम होता है।

एक अध्ययन में शोधकर्ताओं ने पाया कि जो युवा तीन सप्ताह तक हर सुबह मध्यम-तीव्रता की गति से 30 मिनट तक रनिंग करते थे, उनमें अन्य लोगों की तुलना में नींद की गुणवत्ता, मनोदशा और एकाग्रता क्षमता काफी अच्छी पाई गई। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Below Post Ad