Type Here to Get Search Results !

Gautam Adani and Mukesh Ambani: संपत्ति में लगातार गिरावट

Gautam Adani and Mukesh Ambani: संपत्ति में लगातार गिरावट 

टॉप-10 अरबपतियों की सूची में लंबे समय तक पांचवें स्थान पर काबिज रहने के बाद गौतम अडानी की संपत्ति में लगातार गिरावट आ रही है। इसका असर ये हुआ है कि अब अडानी सातवें स्थान पर खिसक गए। इसके अलावा उनकी दो कंपनियों का मार्केट कैप भी गिरकर एक लाख करोड़ रुपये से नीचे पहुंच चुका है।




इस साल कमाई के मामले में दुनिया के शीर्ष अमीरों को पीछे छोड़ने वाले भारतीय उद्योगपति गौतम अडानी को एक के बाद एक बड़े झटके लग रहे हैं। कंपनी के शेयरों में बीते दिनों से लगे लोअर सर्किट ने उनकी संपत्ति को कम कर दिया है। इसका असर ये हुआ कि वह टॉप-10 अरबपतियों की सूची में लंबे समय तक पांचवें स्थान पर काबिज रहने के बाद अब अडानी सातवें स्थान पर खिसक गए। इसके अलावा उनकी दो कंपनियों का मार्केट कैप भी बुरी तरह से टूटा है। 



नेटवर्थ में आई भारी गिरावट


एशिया के सबसे बड़े रईस और लंबे समय तक टॉप-10 अमीरों की सूची में पांचवें स्थान पर अपना दबदबा कायम रखने वाले गौतम अडानी बीते बुधवार को छठे स्थान पर खिसक गए थे, जबकि शुक्रवार को उनकी नेटवर्थ में आई बड़ी गिरावट के चलते अब वह इस सूची में सातवें पायदान पर लुढ़क गए हैं। बिलेनियर इंडेक्स के मुताबिक, उनकी नेटवर्थ में बीते 24 घंटे में 5.84 अरब डॉलर की कमी आई है और यह घटकर 102 अरब डॉलर रह गई है। उनकी जगह लैरी पेज अब छठे स्थान पर पहुंच गए हैं। 


एक महीने में घटा मार्केट कैप 


एक रिपोर्ट के मुताबिक, शेयर बाजार में हालिया बिकवाली के बाद गौतम अडानी समूह की एडिबल ऑयल वाली कंपनी अडानी विल्मर और अदानी पावर का मार्केट कैप एक लाख करोड़ रुपये से नीचे आ गया है। बीएसई के आंकड़ों के अनुसार, अडानी पावर का बाजार पूंजीकरण गुरुवार 12 मई को फिसलकर 93,550 करोड़ रुपये रह गया, जबकि अडानी विल्मर का बाजार पूंजीकरण 75,615 करोड़ तक गिर गया है। यहां बता दें कि बीते अप्रैल माह में ही इन दोनों कंपनियों ने एक लाख करोड़ रुपये मार्केट कैप वाली कंपनियों के क्लब में प्रवेश किया था। 

30% से ज्यादा टूटा अडानी विल्मर का शेयर


गौतम अडानी समूह की कंपनी अडानी विल्मर और अडानी पावर के शेयरों में लोअर सर्किट के चलते कंपनी की वैलयू परबुरा असर पड़ा है। अडानी विल्मर का शेयर आठ फरवरी को शेयर बाजार में अपने आईपीओ प्राइस बैंड 230 रुपये से मामूली कम 227 रुपये पर लिस्ट हुआ था। इसके बाद इसने अपने निवेशकों की खूब चांदी कराई और अप्रैल में यह अपने उच्च स्तर पर पहुंच गया। इसने 878 रुपये के स्तर को छुआ, लेकिन इसके बाद इसमें ऐसी गिरावट आई कि यह अपने हाई से 30 फीसदी से ज्यादा 295 रुपये टूट चुका है। गुरुवार को भी इसमें पांच फीसदी की कमी आई।

मुकेश अंबानी 11 स्थान पर पहुंचे


टॉप-10 सूची में लंबे समय से गौतम अडानी और रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी अपनी उपस्थिति दर्ज कराए हुए थे। लेकिन शुक्रवार को आई गिरावट के चलते मुकेश अंबानी अब इस सूची से बाहर हो चुके हैं। उनकी संपत्ति 1.87 अरब डॉलर की कमी आई है और इस गिरावट के चलते अंबानी की नेटवर्थ कम होकर 87.7 अरब डॉलर रह गई है। अन्य अमीरों की बात करें तो एलन मस्क 215 अरब डॉलर की नेटवर्थ के साथ पहले पायदान पर बने हुए हैं। जबकि जेफ बेजोस 131 अरब डॉलर के साथ दूसरे और बर्नार्ड अर्नाल्ट 122 अरब डॉलर के साथ तीसरे स्थान पर हैं। 

अन्य शीर्ष अरबपतियों का हाल 


बिल गेट्स भी लंबे समय से टॉप-10 सूची में चौके नंबर पर काबिज हैं। उनकी नेटवर्थ 117 अरब डॉलर है, जबकि वॉरेन बफे 112 अरब डॉलर के साथ पांचवें पायदान पर हैं। इसके अलावा लैरी पेज 102 अरब डॉलर के साथ छठे, सग्रेई ब्रिन 98.3 अरब डॉलर के साथ आठवें, स्टीव वाल्मर 90.5 अरब डॉलर के साथ नौवें और लैरी एलिसन 88 अरब डॉली की नेटवर्थ के साथ सूची में दसवें स्थान पर पहुंच गए हैं। यहां फेसबुक के संस्थापक मार्क जकरबर्ग की बात करें तो बड़ी गिरावट का दौर देखने के बाद अब उनकी नेटवर्थ बढ़ रही है और वह 13 स्थान पर पहुंच गए हैं।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Below Post Ad