Type Here to Get Search Results !

RCB vs GT Analysis: विराट को जीवनदान देना गुजरात टाइटंस को पड़ा भारी

RCB vs GT Analysis: विराट को जीवनदान देना गुजरात टाइटंस को पड़ा भारी

आरसीबी को प्लेऑफ की दौड़ में बने रहने के लिए हर हाल में यह मैच जीतना था। इस अहम मुकाबले में उसके सबसे बड़े स्टार कोहली ने मोर्चा संभाल लिया और टीम की उम्मीदों को जिंदा रखा। आरसीबी की जीत के कारण पंजाब और हैदराबाद की टीम बाहर हो गई।




जिस पारी का इंतजार था वह रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) के आखिरी लीग मैच में देखने को मिली। आखिरकार विराट कोहली ने उस तरह की पारी खेली जिसके लिए वो जाने जाते हैं। विराट ने 54 गेंदों पर 73 रन बनाए। उन्होंने अपनी पारी में आठ चौके और दो छक्के लगाए। कोहली का स्ट्राइक रेट 135.19 का रहा। कोहली ने फाफ डुप्लेसिस के साथ शतकीय साझेदारी की और करो या मरो वाले मैच में टीम को जीत दिलाई।


आरसीबी को प्लेऑफ की दौड़ में बने रहने के लिए हर हाल में यह मैच जीतना था। इस अहम मुकाबले में उसके सबसे बड़े स्टार कोहली ने मोर्चा संभाल लिया और टीम की उम्मीदों को जिंदा रखा। आरसीबी की जीत के कारण पंजाब किंग्स और सनराइजर्स हैदराबाद की टीम बाहर हो गई। अब दिल्ली कैपिटल्स और मुंबई इंडियंस पर सबकी नजरें हैं। अगर दिल्ली की टीम जीत जाती है तो आरसीबी बाहर हो जाएगी। वहीं, मुंबई जीत लेती है तो कोहली की टीम आगे बढ़ जाएगी।

मैच में टर्निंग पॉइंट


कोहली को मिला जीवनदान: गुजरात ने 20 ओवर में 168 रन बनाए। उसे इस स्कोर को बचाने के लिए आरसीबी के शुरुआती विकेट लेने थे। चौथे ओवर में यह मौका मिला भी। हार्दिक पांड्या की तीसरी गेंद को विराट कोहली ने लेग साइड में ऊंचा शॉट लगाया। स्क्वायर लेग बाउंड्री पर राशिद खान खड़े थे। राशिद वह कैच नहीं पकड़ पाए। कोहली को वह जीवनदान मिल गया जिसका उन्हें इंतजार था। खराब फॉर्म में चल रहे इस बल्लेबाज को एक मौका मिल गया। उन्होंने 73 रन ठोककर टीम को जीत दिला दी।

दोनों कप्तानों का कैसा रहा प्रदर्शन?
बल्लेबाजी में फाफ डुप्लेसिस की तुलना में हार्दिक पांड्या आगे रहे। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला करने वाली गुजरात की टीम को शुरुआती झटके लगे। उसके बाद हार्दिक ने टीम को संभाला। उन्होंने 47 गेंद पर नाबाद 62 रन बनाए। इस दौरान चार चौके और तीन छक्के लगाए। उनका स्ट्राइक रेट 131.91 का रहा।

डुप्लेसिस की बात करें तो उन्होंने 38 गेंदों पर 44 रन बनाए। अच्छी शुरुआत को वो बड़ी पारी में नहीं बदल पाए। उन्होंने अपनी पारी में पांच चौके लगाए। डुप्लेसिस का स्ट्राइक रेट 115.79 का रहा। उन्होंने कोहली के साथ पहले विकेट के लिए 115 रनों की साझेदारी की।

गुजरात के लिए मैच में क्या-क्या हुआ?


सकारात्मक पक्ष:
 बल्लेबाजी में एक बार फिर से ऋद्धिमान साहा, हार्दिक पांड्या और डेविड मिलर ने टीम के लिए योगदान दिया। साहा ने 31 तो मिलर ने 34 रन बनाए। हार्दिक ने 62 रनों की पारी खेली। राशिद खान ने आखिरी ओवरों में छह गेंद पर 19 रन जड़ दिए। गेंदबाजी में राशिद और साई किशोर ने बेहतरीन काम किया। राशिद ने चार ओवरों में 32 रन देकर दो विकेट लिए। साई किशोर ने चार ओवर में सिर्फ 20 रन दिए।

नकारात्मक पक्ष: शुभमन गिल, मैथ्यू वेड और राहुल तेवतिया ने निराश किया। गिल एक और तेवतिया दो रन बनाकर आउट हो गए। वेड ने 16 रन बनाए और अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में नहीं बदल पाए। गेंदबाजी में मोहम्मद शमी, हार्दिक पांड्या और लॉकी फर्ग्यूसन की जमकर कुटाई हुई। शमी ने दो ओवर में 23, हार्दिक ने तीन ओवर में 35 और फर्ग्यूसन ने 1.4 ओवर में 21 रन लुटाए। यश दयाल ने चार ओवर में 35 रन दिए। गुजरात की टीम प्लेऑफ में पहुंच गई है और अब उसे क्वालीफायर-1 में खेलना है। पिछले कुछ मैचों में टीम का प्रदर्शन निराशाजनक रहा है। इसे हार्दिक की टीम को सुधारना होगा।

आरसीबी के लिए मैच में क्या-क्या हुआ?


सकारात्मक पक्ष: 
गेंदबाजी में शाहबाज अहमद, ग्लेन मैक्सवेल, वानिंदु हसरंगा और हर्षल पटेल ने बेहतर काम किया। चारों ने रन नहीं लुटाए। शाहबाज ने दो ओवर में 15 रन दिए। मैक्सवेल ने चार ओवर में 28 रन देकर एक विकेट अपने नाम किया। हसरंगा ने चार ओवर में 25 रन देकर एक विकेट लिया। हर्षल ने एक ओवर में सिर्फ छह रन दिए। बल्लेबाजी में कोहली के साथ -साथ डुप्लेसिस और मैक्सवेल का भी बल्ला चला। कोहली और डुप्लेसिस के बाद मैक्सवेल ने 18 गेंदों पर 40 रन की नाबाद पारी खेली। उन्होंने पांच चौके और दो छक्के लगाए। उनका स्ट्राइक रेट 222.22 का रहा।

नकारात्मक पक्ष: बल्लेबाजी में सभी ने अपना काम बखूबी से किया। गेंदबाजी में कुछ खिलाड़ी महंगे साबित हुए। सिद्धार्थ कौल ने चार ओवर में 43 रन लुटाए। अब तक कसी गेंदबाजी करने वाले जोश हेजलवुड ने दो विकेट तो लिए, लेकिन चार ओवर में 39 रन दे दिए। महिपाल लोमरोर से एक ओवर ही कराया गया। उन्होंने 11 रन लुटाए। अगर आरसीबी की टीम प्लेऑफ में पहुंचती है तो उसे अपनी गेंदबाजी पर काम करना होगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Below Post Ad